करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं – karela ko english mein kya kahate hain

हैलो दोस्तो कैसे है आप सब लोग , में आशा करता हूं कि आप सभी लोग कुशल होंगे । आज के इस आर्टिकल में हम करेला के बारे में जानेंगे । आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं – karela ko english mein kya kahate hain । अगर आप भी करेला के बारे में यह जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े ।

आज का यह आर्टिकल करेला के ऊपर होने वाला है । इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं – karela ko english mein kya kahate hain । इसके अलावा यह भी जानेंगे कि करेला को खाने के फायदे क्या – क्या हैं । अगर आप भी करेला के बारे में यह सभी बाते जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े । तो चलिए करते हैं आज का आर्टिकल स्टार्ट –

करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं

करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं – karela ko english mein kya kahate hain –

दोस्तो आप करेला के बारे में तो जानते ही होंगे । आप ने कभी – ना – कभी करेला कि बनी सब्जी या करेला का जूस कुछ तो पिया होगा , या कभी – ना – कभी इनके बारे में सुना तो होगा । करेला का कई जगह उपयोग किया जाता हैं । करेला को ओषधि के रूप में भी माना जाता हैं । करेला वैसे तो खाने में बहुत कड़वा होता हैं लेकिन इसको खाने के कई सारे फायदे भी हैं । ये कई बीमारियों को खत्म करने व रोकने के काम आता हैं ।

करेला को इंग्लिश में बिटर गोर्ड (BITTER GOURD) कहते हैं ।

करेला खाने के फायदे – karela khane ke fayde –

करेला के अनेक फायदे है । कई बीमारियों को ठीक करने के लिए करेला का सेवन किया जाता हैं । करेला को एक ओषधि के रूप में भी माना जाता हैं , क्युकी इससे कई बीमारियों कि रोक – थाम कर सकते हैं , कई बीमारियों को ठीक कर सकते हैं । करेला को एक सब्जी के रूप में भी उपयोग किया जाता है । करेला से कई खाने के सुवादिस्ट प्रदार्थ बनाए जाते हैं । इसके अलावा करेला का जूस भी बनाया जाता हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदे मंद हैं ।

Read Also : यूरिन इन्फेक्शन में क्या नहीं खाना चाहिए – urine infecation me kya nahi khana chahiye

करेला का उपयोग कोलेस्ट्रॉल को कम करने में किया जाता हैं । करेला के अंदर अनेक प्रकार के फायबर होते हैं जो हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल को समान बनाए रखने है , और अगर हमारे शरीर के अंदर कोलेस्ट्रॉल बढ़ने लगे तब हमे रेगुलर करेला का जूस पीना चाहिए जिससे के ये हमारे कोलेस्ट्रॉल को वापस कम कर सके । ये अपने शरीर के अंदर बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल को यूरिन के माध्यम से बाहर निकाल देता हैं , और हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को समान बनाए रखता हैं ।

करेला का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए भी किया जाता हैं । करेला का जूस पीने से हमारे शरीर कि इमुयनिट पावर बढ़ती हैं , और हमारे शरीर में रोगों से लडने कि ताकत आती हैं । इस लिए हमे रोजाना करेला का जूस का सेवन करने चाहिए । अगर आप करेले का जूस नहीं पीना चाहते है तो आप को कम – से – कम करेले कि सब्जी का तो जरूर सेवन करना चाहिए ।

Read Also : गिलोय घनवटी कब खाना चाहिए – giloy ghanvati kab khana chahiye

इसके अलावा अगर करेला का कई सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता हैं तो वो है चहरे के निखार को बढ़ाने के लिया , या अगर जो आप के चहरे पे पिंपल हो रहे है उने कम करने के लिए । करेले के जूस का रेगुलर सेवन करने से आपका चेहरा खिला – खिला रहता हैं । इसके अलावा अगर आप के चहरे पर पिंपल भी हो रहे हो तो आप करेले के जूस का सेवन कर सकते हैं या करेले के जूस में हल्दी व दूध कि थरी को मिलाकर भी चहरे पर लगा सकते हैं जिससे आप को फायदा देखने को मिलेगा।

कलेरा खाने के नुकसान – karela khane ke nukshan –

जहा एक तरफ करेला खाने के इतने सारे फायदे है उही इसके कुछ नुकसान भी हैं । अगर हमने आप को करेला खाने के फायदे बताए है तो हमे इसके नुकसान भी बताना चाहिए । आप को कैसे करेले के जूस का सेवन करना हैं जिससे आप को कोई नुकसान ना हो यह भी बताना बहुत जरूरी हैं । इसके अलावा आप का यह भी जानना चाहिए कि आप को कब – कब करेले के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए ।

Read Also : अश्वगंधा सफेद मूसली शतावरी कौंच के बीज खाने के फायदे – ashwagandha safed musli shatavari kaunch ke beej khane ke fayde –

करेले के जूस का सबसे बड़ा नुकसान यह हैं कि इसे पीने के बाद उल्टी आ सकती हैं । इस लिए आप जब भी करेले के जूस का सेवन करे तो सावधानी पूर्वक करे । उल्टी आने का कारण यह है कि यह बहुत ज्यादा कड़वा होता हैं , और कई लोग इसकी कड़वाहट को सहन नहीं कर पाते है ओर उल्टी कर देते हैं । करेले के जूस का सेवन खाली पेट ही करना चाहिए जिससे कि उल्टी आने के काम चांस रहे ।

इसके अलावा अगर आप करेले के जूस का ज्यादा इस्तेमाल करते हो तो आप को दस्त तक लग सकती हैं । इसलिए आप को इसका इस्तमाल अपने शरीर के हिसाब से ही करना चाहिए । आप को उतना ही करेले के जूस का सेवन करना चाहिए जितना कि आप का शरीर उस जूस को सहन कर सके ।

निष्कर्ष –

आज के इस आर्टिकल में हमने आप को करेला के बारे में बताया हैं । आज के इस आर्टिकल में हमने आप को बताया हैं की करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं – karela ko english mein kya kahate hain , करेला खाने के फायदे – karela khane ke fayde और इसके साथ यह भी बताया हैं कि कलेरा खाने के नुकसान – karela khane ke nukshan क्या – क्या हो सकते हैं ।

देखा जाए तो करेला एक अच्छी सब्जी तो है ही लेकिन उसके साथ – साथ एक अच्छी ओषधि भी है । कई बीमारी से छुटकारा मिल सकता हैं इसका सेवन करने से । लेकिन साथ ही इसके कुछ नुकसान भी हैं , इस लिए करेले के जूस का या सब्जी का सेवन सावधानी व ध्यान पूर्वक करना चाहिए ।

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन ाची लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए… धन्यवाद् !!!

Share on:

मेरा नाम कमल रावत है | में इस वेबसाइट का को फाउंडर हु! हम इस वेबसाइट पर हिंदी फैक्ट, हिंदी अर्थ तथा सारी जानकारी हिंदी में देते हे| और सारे आर्टिकल हिन्दी में लिखते हे|

Leave a Comment