Gautam Adani पर लगे नए आरोप, अब क्या होगा ? 2024

अडानी ग्रुप को लेकर एक बार फिर बड़ी रिपोर्ट आई है इस रिपोर्ट में Gautam Adani पर फिर से गंभीर आरोप लगाए गए हैं , क्या है यह रिपोर्ट और इसमें क्या कहा गया है यह सब जानेंगे इस आर्टिकल में नमस्कार!

फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट आज आई है इस रिपोर्ट में Gautam Adani ग्रुप पर आरोप लगाया गया है कि उसने एक भारतीय सरकारी बिजली कंपनी को महंगे और हाई क्वालिटी वाले फ्यूल की जगह पर सस्ता और लो क्वालिटी वाला कोयला सप्लाई किया |

Gautam Adani पर लगे नए आरोप

अडानी ग्रुप पर पहले से कोयला स्कैम के आरोप लग रहे हैं और उसमें भी अब यह नई जानकारी सामने आई है इस बाबत दस्तावेज ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एंड करप्शन रिपोर्टिंग प्रोजेक्ट यानी OCCRP ने जुटाए हैं और इन्हें एटी ने रिव्यू किया है |

आपको पता होगा कि OCCRP पहले भी Gautam Adani ग्रुप पर स्कैम के आरोप लगा चुका है और नए आरोपों में Gautam Adani ग्रुप पर पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने की बात की गई है |

क्या है रिपोर्ट में

रिपोर्ट के मुताबिक Gautam Adani ग्रुप ने लो ग्रेड के कोयले का इस्तेमाल किया और इस तरह से एयर क्वालिटी को खराब किया जबकि अडानी को हाई क्वालिटी का कम प्रदूषण करने वाला कोयला सप्लाई करना था, इस तरह से Gautam Adani ने मोटा मुनाफा अपनी जेब में भरा |

क्या होता हे लो ग्रेड कोयला

असल में होता क्या है कि लो ग्रेड के कोयले का मतलब है कि आपको बिजली पैदा करने में ज्यादा कोयला जलाना पड़ता है इससे ज्यादा धुआं होता है और यह एयर क्वालिटी पर बुरा असर डालता है दूसरी ओर हाई क्वालिटी वाला क्लीन कोयला इस्तेमाल करने पर कम कोयले में ही बिजली पैदा होती है और इससे पोल्यूशन भी कम होता है |

यह भी पढ़े : Irani Share Market Crash, निवेशकों में हाहाकार! 2024

खैर Gautam Adani पर आई नई रिपोर्ट की byuore की बात करें तो पता चलता है कि जनवरी 2014 में अडानी ने कोयले का एक इंडोनेशियाई शिपमेंट खरीदा था इसमें 3500 कैलोरीज प्रति किलो होने की बात की गई थी इस शिपमेंट को तमिलनाडु जनरेशन एंड डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी को 6000 कैलोरी प्रति किलो वाले कोयले के तौर पर भेजा गया |

यह सबसे हाई क्वालिटी वाला कोयला माना जाता है यानी कम क्वालिटी वाले कोयले को अडानी ने हाई क्वालिटी वाले कोयले के तौर पर इस सरकारी बिजली कंपनी को बेच दिया |

माना जाता है कि इस पूरे गेम में अडानी ने दो गुनी से ज्यादा कमाई कर ली एटी की रिपोर्ट के मुताबिक 2014 में इस तरह से के 22 और शिपमेंट्स के ब्योरे जब देखे गए तो उनमें भी क्वालिटी को बढ़ा चढ़ाकर बेच बेचने वाली बात सामने आई है और इस तरह से Adani ने करीब 15 लाख टन कोयला बेचा और जमकर कमाई की |

यह भी पढ़े : Share Bazar में Defence Stocks की दहाड़ तेज़, क्या करें निवेशक?|2024

अडानी ने लो कैलरी आउटपुट वाले इंडोनेशिया के एक माइनिंग ग्रुप से यह कोयला खरीदा था पिछले साल एटी ने रिपोर्ट दी थी कि 2021 से लेकर 2023 के बीच अडानी ग्रुप ने मार्केट प्राइस से ऊंचे दाम पर भारत में कोयला इंपोर्ट करने के लिए दलालों को 5 अरब डॉलर से ज्यादा पैसा बांटा |

क्या हे हिंडन बर्ग का मामला

इस रिपोर्ट के बाद भारत में विपक्षी दलों ने अडानी पर खूब हंगामा खड़ा किया और पिछले साल जनवरी में अडानी ग्रुप पर हिंडन बर्ग ने एक रिपोर्ट जारी की थी और इस रिपोर्ट में अडानी ग्रुप पर शेरों में जोड़ तोर करने और पैसे की हेराफेरी समेत तमाम गंभीर आरोप लगाए गए थे |

यह भी पढ़े : Small Cap Stocks में हो रही है Investors की खूब कमाई? | Share Market |

ऑफशोर फंड्स के जरिए अपनी ही कंपनियों में पैसा लगाने के लिए कंपनी पर आरोप लगे और इस मामले की जांच सेबी ने भी की और 24 में से 22 मामलों में सभी ने अपनी जांच पूरी कर ली अडानी ग्रुप का मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा जिस पर फैस ला भी आ चुका है और इस फैसले में Adani ग्रुप पर कोई आरोप साबित होता नहीं दिखा |

कुल मिलाकर देखना यह होगा कि एटी की रिपोर्ट के बाद Adani ग्रुप को लेकर क्या फिर से हंगामा खड़ा होता है या नहीं |

Leave a Comment