टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग , मैं आशा करता हूं कि आप सभी लोग कुशल होंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम टॉन्सिल्स के बारे में बात करेंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name – बताएंगे । अगर दोस्तों आप भी टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name जानना चाहते हैं , तो आप हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें ।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम टॉन्सिल्स के बारे में बात करेंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name बताएंगे ।

इसके अलावा दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हम आप को गले के टॉन्सिल में क्या नही खाना चाहिए , टॉन्सिल के लिए योग , बार-बार टॉन्सिल होने का कारण , टॉन्सिल का ऑपरेशन कब होता है , टॉन्सिल के प्रकार , टॉन्सिल कितने दिन में ठीक होता है , गले के टॉन्सिल में क्या खाना चाहिए और टॉन्सिल वाला कैंसर इन सब के बारे में विस्तार से बताएंगे । अगर दोस्तो आप भी इन सभी विषयों पर विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा पड़े । तो चलिए करते हैं आज के इस आर्टिकल को स्टार्ट –

टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम

टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name

दोस्तों टॉन्सिल्स हमारे मुंह में जन्म से ही होते हैं । टॉन्सिल का काम जब भी हम कुछ खाते-पीते हैं , तो उसके इंफेक्शन से गले को बचाना होता है । लेकिन जब हम कुछ गलत चीजों का सेवन कर लेते हैं , तो टॉन्सिल्स में इंफेक्शन हो जाता है और वह खराब हो जाती है । जिसे मेडिकल भाषा में टॉन्सिलाइटिस कहा जाता है । टॉन्सिलाइटिस को सही करने के लिए अधिकांशत गरम पानी के कुल्ले करने की कहा जाता है ।

टॉन्सिलाइटिस को ठीक करने के लिए अधिकांशतः डॉक्टर Hexidine माउथ वॉश यूज करने की सलाह देते हैं । इसके अलावा अगर आपको टॉन्सिलाइटिस के दौरान बुखार भी हो तो आप को Paracetamol टेबलेट यूज़ करने की सलाह भी दी जाती है । अगर इनके यूज से भी आपके टॉन्सिलाइटिस में कोई फर्क नजर ना आए तो आपको तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर को दिखाना चाहिए और उनके बताए हुए गाइडलाइन को फॉलो करना चाहिए ।

गले के टॉन्सिल में क्या नहीं खाना चाहिए –

टॉन्सिल के वक्त गले में सूजन वह दर्द की शिकायत रहती हैं , इसलिए इस वक्त में हमें ठंडी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए , जैसे ठंडा पानी आइसक्रीम कोल्ड ड्रिंक बर्फ आदि । इसके अलावा दोस्तों टॉन्सिल में हमें तली हुई चीजें के सेवन से भी बचना चाहिए । इसके अलावा दोस्तों जंक फूड वह फास्ट फूड के सेवन से भी बचना चाहिए ।

टॉन्सिल के लिए योग –

टॉन्सिल के लिए उज्जाई प्राणायाम एक रामबाण उपयोग है । उज्जाई प्राणायाम को करके टॉन्सिल को जड़ ठीक किया जा सकता है । उज्जाई प्राणायाम को आप जब चाहे तब कर सकते हैं , आप खाना खाने के 2 घंटे बाद आप उज्जाई प्राणायाम को कर सकते हैं ।

Read More -; टूटी हड्डी जोड़ने में कितना समय लगता है – Tuti Haddi Jodne Main Kitna Samay Lagta Hai

बार-बार टॉन्सिल होने का कारण –

टॉन्सिल होने का सबसे प्रमुख कारण है , शरीर में विटामिन की कमी का होना । जिनके शरीर में विटामिन की कमी होती हैं , उनके बार बार टॉन्सिल खराब हो जाता है । इसके अलावा मौसम परिवर्तन से भी टॉन्सिलाइटिस हो जाता है । कभी बहुत ज्यादा गर्म या ठंडा खाने से भी टॉन्सिलाइटिस की समस्या देखने को मिलती है । इसके अलावा भी और कई सारे कारण है बार-बार टॉन्सिलाइटिस होने के ।

टॉन्सिल का ऑपरेशन कब होता है –

टॉन्सिल एक आम बीमारी है । अधिकांशत टॉन्सिल आम घरेलू उपचार वह दवाइयों से ठीक हो जाता है । लेकिन अगर टॉन्सिल इन उपचारों से भी ठीक ना हो और इतना बड़ा हो जाए की वह गले को बिल्कुल बंद कर दें , जिससे कि खाना खाने में वह सांस लेने में तक दिक्कत का सामना करना पड़े तो ऐसी स्थिति में आपको टॉन्सिल का ऑपरेशन कराना पड़ता है ।

Read More -; अपेंडिक्स का रामबाण इलाज – Appendix Ka Ramban Ilaj

टॉन्सिल कितने दिन में ठीक होता है –

आमतौर पर टॉन्सिल एक से डेढ़ हफ्ते में एंटीबायोटिक लेने ठीक हो जाते हैं । अगर आपके टॉन्सिल एंटीबायोटिक वह घरेलू उपचार के बाद भी एक से डेढ़ हफ्ते में ठीक ना हो तो आपको तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए ।

गले के टॉन्सिल में क्या खाना चाहिए –

टॉन्सिल में खाने-पीने का खास ध्यान रखना चाहिए । हमें टॉन्सिल के दौरान ऐसी चीजों का ही सेवन करना चाहिए जो खाने पीने में गर्म हो और साथ ही तासीर में भी गर्म हो । जैसे गरम पानी , चाय , कॉफी , ग्रीन टी , शहर , अंडा आदि ।

Read More -; श्री कृष्ण के 12 नाम – Shri Krishna Ke 12 Naam

टॉन्सिल वाला कैंसर –

जब टॉन्सिल का समय पर इलाज न करवाया जाए और कितना बढ़ जाए कि खाने व सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़े , इसे टॉन्सिल वाला कैंसर कहते हैं । जब खाना खाने व सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़े तो आपको तुरंत नजदीकी डॉक्टर को दिखाना चाहिए और उनकी सलाह पर ऑपरेशन तक करवा लेना चाहिए । जिससे कि आगे चलकर आपको टॉन्सिल का खामियाजा ना भुगतना पड़े ।

निष्कर्ष –

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको टॉन्सिल के बारे में बताया है । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – tonsils ke liye tablet name बताया है । इसके अलावा भी दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको टॉन्सिल से संबंधित अन्य कई महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बताया है ।

दोस्तों वैसे तो टॉन्सिल एक आम समस्या है । टॉन्सिल अधिकार बच्चों में होती हैं । लेकिन अगर इसका समय पर उपचार न करवाए जाए तो यह बहुत खतरनाक साबित हो सकती हैं । कई केसों में टॉन्सिल के मरीजों की मौत तक हो चुके हैं। इसलिए आपको टॉन्सिल का समय रहते उपचार करवा लेना चाहिए ।

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन अची लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए… धन्यवाद् !!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.