Private job

आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic

हैलो दोस्तो कैसे है आप सब लोग , में आसा करता हूं कि आप सभी लोग कुशल होंगे । आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic । अगर आप भी इस विषय के बारे में ओर अधिक जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े ।

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हम ओलंपिक के बारे में जानेंगे , हम जानेंगे कि ओलंपिक गेम क्या होता हैं और यह भी जानेंगे की आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic , इन सब विषयों के बारे में आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे । अगर आप को भी इन विषयों के बारे में ओर अधिक जानना है तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े । तो चलिए करते हैं आज का आर्टिकल स्टार्ट –

आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ?

ओलंपिक गेम क्या होता हैं –

ओलंपिक गेम विश्व कि सबसे बड़ी खेल प्रतियोगिता है , जिसमे लगभग विश्व के सारे देश हिसा लेते हैं । यह खिलाड़ियों व जो खेल खेलना या देखना पसंद करते हैं उन के लिए सबसे बड़ा त्योहार हैं । इस खेल में सभी देश के खिलाड़ी हिसा लेते हैं , ओर अपने देश के लिए मैडल जीतने का प्रयास करते हैं । इस खेल का लक्ष्य विश्व के अभी देशों के बीच सामंज्यस ओर एकता बनाए रखना हैं ।

आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic –

आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic , यह प्रशन हर किसी कि जुबान पर है । माना कि अगले ओलंपिक के बाद ही भारत में ओलंपिक के प्रति जागरूकता आई हैं , पर ये गेम इतने वर्षो से खेला जा रहा हैं तो ये गेम आज तक भारत में क्या नहीं खेला गया । अगर ये गेम पहले ही भारत में खेला गया होता तो भारत के लोगो को इस ओलंपिक के बारे में पहले से पता होता , पहले से लोग इस गेम के प्रति जागरूक होते लेकिन आज तक ये गेम भारत में कभी भी आयोजित नहीं किया गया ।

Read Also : मरा हुआ इंसान पानी में क्यों नहीं डूबता है –  mara hua insan pani me kyu nahi dubta hai

आखिर क्यों नहीं किया गया ओलंपिक गेम आयोजित भारत में , या भारत ही नहीं करना चाहता ये गेम आयोजित । और अगर भारत ओलंपिक भारत में आयोजित करना चाहता है तो आज तक किया क्यों नहीं , और अगर करना चाहता है तो आज तक भारत ने ओलंपिक कि मेजबानी करने के लिए अपना नाम क्यों नहीं भेजा । जी हा आज तक भारत ने ओलंपिक खेलों को भारत में आयोजित करने के लिए अपना नाम भी नहीं भेजा है ।

अब सवाल यह उठता है कि आखिर भारत ने अभी तक अपना नाम ओलंपिक कि मेजबानी के लिए अपना नाम क्यों नहीं भेजा । क्या भारत बे बनी भारतीय ओलंपिक कमिटी को ओलंपिक खेल अच्छा नहीं लगता । या भारत को क्रिकेट और फुडबोल के अलावा कोई गेम पसंद नहीं , और अगर पसंद है तो आज तक भारत ने ओलंपिक कि मेजबानी करने के लिए आवेदन क्यों नहीं भेजा ।

ऐसा नहीं है कि भारत को ओलिमिक खेल अच्छा नहीं लगता । इस साल अगर आप ओलंपिक देख रहे हैं तो आप ने देखा ही होगा कि भारत के खिलाड़ी कितना श्यांदार प्रदर्शन कर रहे हैं । भारत का नाम गूंज रहा है इस साल के ओलंपिक खेलों में । और तो और भारत के जीतने वाले खिलाड़ियों का भारत में समान किया जा रहा है , उनको समान के तौर पर कुछ रासी दी जा रही है , भारत के प्रधानमंत्री खुद जीतने वाले खिलाड़ियों कि प्रसंश कर रहे हैं । मगर फिर भी भारत कतरा क्यों रहा है ओलंपिक खेलों को भारत में आयोजित करने से ।

ओलंपिक गेम को अगर कोई देश आयोजित करना चाहता है तो उस देश को पहले एक अलग गेम सिटी का निर्माण करना पड़ता है , जहा हर खेल के लिया अलग मैदान चाहिए होता है । जो भी देश ओलंपिक खेलों को अपने देश में आयोजित करता है उसको पहले ओलंपिक कमिडी के सामने अपने सुरक्षा इंतजामों को बताना पड़ता है क्यों कि इस ओलंपिक को देखने कई देशों के प्रधानमंत्री , राष्ट्रपति व कई बड़ी – बड़ी हस्तियां आती है तो उनकी सुरक्ष व रहने खाने कि पूरी सुविधा होनी चाहिए ।

Read Also : चुनाव प्रचार के मुख्य तरीके क्या हैं –  chunav prachar ke mukhya tarike kya hai

इसके अलाव जो बाहरी देशों के नागरिक ओलंपिक खेलों को देखने आ रहे है उन के भी रहने व खाने किसी भी प्रकार कि असुविधा नहीं होनी चाहिए । साथ ही इस्टेडयम उनके रहने के स्थान के पास ही होना चाहिए । और इसके अलावा जिस भी सिटी मे ये गेम आयोजित होने जा रहे हैं उस सिटी के लोगो के लिए रोजगार के शाधन भी उपलब्ध कराने पड़ते हैं । उस सिटी के उपर कोई खर्च नहीं पड़ना चाहिए यह भी बताना पड़ता है ।

इन सारी बातो के अलावा भी विश्व ओलंपिक समिति को एक बहुत बड़ी राशि देनी पड़ती हैं आवेदन करने के लिए । लेकिन उसके बाद भी यह पका नहीं है कि इस बार आप ही ओलंपिक को आयोजित करोगे । जीतने भी देश आवेदन देते है उन सभी देशों में से फिर किसी एक देश को चुना जाता हैं जो ओलंपिक खेलों को अपने देश में आयोजित करता हैं ।

इसलिए भारत का मानना है कि अभी हम इतने सक्ष्यम नहीं है कि ओलंपिक जैसे बड़ी खेल प्रतियोगिता को हम आयोजित कर सके । इस लिए भारत ने आज तक कभी – भी अपना नाम नहीं भेजा आयोजित करने के लिए । लेकिन माना जा रहा है कि 2032 में भारत अपना नाम भेजेगा ओलंपिक को भारत में आयोजित करने के लिए ।

Read  Also : श्री लंका कब स्वतंत्र हुआ – sri lanka kab swatantra hua

निष्कर्ष –

आज के इस आर्टिकल में हमने ओलंपिक के बारे में बताया है । हमने बताया है कि ओलंपिक गेम क्या होता हैं और आखिर भारत में क्यों नहीं होता ओलंपिक ? – aakhir bharat me kyu nahi hota olympic । इन सब के बारे में हमने आज जाना है ।

माना कि भारत में कभी – भी ओलंपिक आयोजित नहीं हुआ है लेकिन अब भारत बदल रहा हैं । पहले ओलंपिक के बारे में भारत के लोगो को ज्यादा पता नहीं था लिकन आज हर कोई ओलंपिक के बारे में बात कर रहा है । इसी प्रकार भले आज तक भारत में कभी भी ओलंपिक आयोजित नहीं हुआ लेकिन आगे जरूर होगा ।

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन ाची लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए… धन्यवाद् !!!

Admin

A private job portal is an online platform where companies post job vacancies and individuals search and apply for employment opportunities in the private sector. These portals facilitate the connection between employers and job seekers, offering features such as resume uploading, job alerts, and application tracking for a fee or subscription.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *