heart kis side hota hai – हार्ट किस साइड होता हैं

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग , मैं आशा करता हूं कि आप सभी लोग कुशल होंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम हार्ट यानी कि दिल के बारे में बात करेंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि हार्ट किस साइड होता हैं – heart kis side hota hai । अगर दोस्तों आप भी जाना चाहते हो कि हार्ट किस साइड होता हैं – heart kis side hota hai और हार्ट से संबंधित अन्य कई सारी बातें तो आप हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें ।

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम हार्ट यानी कि दिल के बारे में बात करेंगे । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि हार्ट किस साइड होता हैं – heart kis side hota hai

इसके अलावा दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको हार्ट अटैक की उम्र , दिल किस तरफ होता है दाएं या बाएं , शरीर में दिल किस और धड़कता है , राइट साइड सीने में दर्द क्यों होता है , जीभ के नीचे रखने वाली गोली का नाम , हार्ट क्या है , हार्ट अटैक आने पर प्राथमिक उपचार और साइलेंट अटैक कैसे आता है इन सब के बारे में बताएंगे । अगर दोस्तों आप सभी को भी इन सभी विषयों के बारे में विस्तार से जानना है , तो आप हमारे आज के इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें । तो चलिए करते हैं आज के इस शानदार आर्टिकल को स्टार्ट –

heart kis side hota hai

heart kis side hota hai – हार्ट किस साइड होता हैं

दोस्तों महिला व पुरुष दोनों में ही हार्ट अलग अलग होता है । महिलाओं में दिल का वजन लगभग 250 से 300 ग्राम तक होता है । वहीं पुरुषों में दिल का वजन 300 से 350 ग्राम तक होता है । लेकिन दोस्तों महिला व पुरुष में दिल का काम एक ही होता है , शरीर में रक्त प्रवाह करना ।

हार्ट पूरे शरीर में धमनियों के माध्यम से रक्त प्रवाह करता है और दूषित रक्त को शुद्ध रक्त में बदलता है । अगर दिल ठीक हो तो आप कहीं सारी बीमारियों से दूर रहते हैं , लेकिन अगर दिल खराब हो तो आप कई सारी बीमारियों के संक्रमण में आ सकते हैं । इसलिए ह्रदय का ध्यान रखना अति महत्वपूर्ण है ।

आम इंसान का दिल दिन में लगभग 1 लाख या उससे भी ऊपर धड़कता है । और अगर बात करें की आम इंसान का दिल 1 मिनट में कितनी बार धड़कता है , तो मैं आपको बता दूं की आम इंसान का दिल 1 मिनट में 60 से 90 बार के बीच में धड़कता है ।

दोस्तों अगर बात करें कि हमारा हार्ट किस साइड होता हैं – heart kis side hota hai , तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि हमारा दिल दाएं और बाएं फेफड़े के मध्य में स्थित रहता है । पर दोस्तों इसका कुछ सा भाग बाय और झुका होता है । इसलिए लोग कहते हैं कि हमारा दिल जो है वह बाई और होता है । लेकिन असल में हमारा दिल दोनों फेफड़ों के मध्य में स्थित होता है ।

हार्ट अटैक की उम्र -;

हार्ट अटैक अधिकतर बढ़ती उम्र के साथ होता है । लगभग 40 साल की उम्र के बाद ही अधिकांश लोगों को हार्ड अटैक आता है । लेकिन अगर किसी के फैमिली प्रॉब्लम या क्लेस्टोन बहुत ज्यादा होता है , तो उनके 20 साल की उम्र के बाद ही हार्ट अटैक आ सकता है । वरना अधिकतर लोगों के 40 साल की उम्र के बाद ही हार्ट अटैक आता है ।

दिल किस तरफ होता है दाएं या बाएं -;

दिल दाएं और बाएं फेफड़ों के मध्य में स्थित रहता है । लेकिन दिल का कुछ भाग बाएं और जुका रहता है । इसलिए लोग यह मानते हैं , कि दिल बाएं और रहता है ।

Read More -; पतंजलि दाद की दवा – Patanjali Daad Ki Dawa

शरीर में दिल किस और धड़कता है -;

मानव शरीर के लिए दिल बहुत ही जरूरी है , दिल ही शरीर में रक्त संचालन का काम करता है । दिल दोनों फेफड़ों के मध्य स्थित रहता है , और इसका कुछ भाग बाई और झुका रहता है । इसलिए शरीर में दिल बाई और ही धड़कता है ।

राइट साइड सीने में दर्द क्यों होता है -;

राइट साइड सीने में दर्द के कई कारण हो सकते हैं । जिनमें से प्रमुख कारण है , गैस व एसिडिटी का होना । गैस एसिडिटी के कारण पूरे पेट में दर्द होने लगता है । इसके अलावा अचक का आना भी सीने में दर्द का एक कारण हो सकते हैं । इसके अलावा दिल से संबंधित अन्य कई सारी बीमारियां भी राइट साइड सीने में दर्द का कारण हो सकती हैं । जब भी आपको सीने में दर्द हो , तो आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए । क्योंकि कभी-कभी राइट साइड सीने में दर्द हार्ट अटैक की वजह से भी हो सकता है । इसलिए तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ।

Read More -; टॉन्सिल्स के लिए टेबलेट नाम – Tonsils Ke Liye Tablet Name

जीभ के नीचे रखने वाली गोली का नाम -;

हार्ट प्रॉब्लम मै जीभ के नीचे रखने वाली गोली का नाम सार्बिट्रेट (नाइट्रोग्लिसरीन) है । जब भी किसी मरीज को हार्ट से संबंधित कोई समझते हो यह हाई ब्लड प्रेशर हो तो डॉक्टर अधिकांश सार्बिट्रेट (नाइट्रोग्लिसरीन) टेबलेट का यूज़ करने की सलाह देते हैं । यह टेबलेट हार्ट से संबंधित सभी बीमारियों को ठीक करने के लिए बहुत ही कारगर मानी जाती है ।

हार्ट क्या है -;

हार्ट यानी कि दिल एक पेशीय अंग है , जो हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है । हार्ट धनिया की सहायता से हमारे पूरे शरीर में रक्त प्रवाह करने का काम करता है । हार्ट 1 मिनट में लगभग 60 से 90 बार के बीच धड़कता है । हार्ट अशुद्ध रक्त को शुद्ध रक्त में बदलने का काम भी करता है ।

Read More -; टूटी हड्डी जोड़ने में कितना समय लगता है – Tuti Haddi Jodne Main Kitna Samay Lagta Hai

हार्ट अटैक आने पर प्राथमिक उपचार -;

किसी को भी हार्ट अटैक आने पर सबसे पहले एंबुलेंस को बुलाना चाहिए । लेकिन जब तक एंबुलेंस आए तब तक आपको मरीज का प्राथमिक उपचार करना चाहिए। प्राथमिक उपचार में सबसे पहले अगर मरीज किसी कमरे में हैं , तो उस कमरे के सारे दरवाजे और खिड़कियों को खोल देना चाहिए । और मरीज को आश्वासन देना चाहिए कि सब ठीक हो जाएगा ।

और अगर मरीज बेहोश हो गया हो तो उसको CTR देना चाहिए । CTR में आप अपने दोनों हाथों से मरीज की छाती को दबाए , यह 1 मिनट में लगभग 80 से 100 बार के बीच में होना चाहिए । इसके अलावा CTR में दोस्तों मुंह से मुंह में हवा देना भी आता है । अगर मरीज की स्थिति ज्यादा खराब है तो आप मरीज को मुंह से मुंह में हवा भी दे सकते हैं ।

साइलेंट अटैक कैसे आता है -;

साइलेंट अटैक एक तरह का अटैक ही होता है , लेकिन इसमें पेशेंट को दर्द नहीं होता है । अटैक जितना ही खतरनाक साइलेंट अटैक भी होता है । साइलेंट अटैक के दौरान मरीज को सांस फूलना , बेचैन होना और बुखार जैसी शिकायत होती है । साइलेंट अटैक अधिकतर बुजुर्गो में ज्यादा देखा जाता है ।

निष्कर्ष -;

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको हार्ट यानी कि दिल के बारे में बताया है । दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया है कि हार्ट किस साइड होता हैं – heart kis side hota hai । इसके अलावा भी दोस्तों आज कैसा आर्टिकल हार्ट से संबंधित अन्य कहीं महत्वपूर्ण जानकारीयो के बारे में बताया है।

दोस्तों आजकल हार्ट अटैक एक आम समस्या का रूप लेती जा रही हैं । कई सारे लोगों को छोटी उम्र में ही हार्ड अटैक जैसी समस्या हो जाती है । हार्ट अटैक आने का सबसे महत्वपूर्ण कारण अपना खानपान है । जब हम खानपान पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं , तो हमारा क्लस्टर लेवल बढ़ जाता है और हार्ट से संबंधित बीमारियां पनपने लगती है । जिस कारण हार्ड अटैक आता है । दोस्तों अगर आपको हार्ट यानी कि दिल से संबंधित कोई भी समस्या हो तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए ।

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन अची लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए… धन्यवाद् !!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.