कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ? – captain hawkins kis mugal shasak ke darbar mein aaya tha ?|

हेलो दोस्तो कैसे है आप सब लोग आज के इस आर्टिकल में हम कैप्टन हॉकिन्स के बारे में जानेंगे कि कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ? – captain hawkins kis mugal shasak ke darbar mein aaya tha अगर आप भी कैप्टन हॉकिन्स के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े । इस आर्टिकल में हम आपको कैप्टन हॉकिन्स के बारे में पूरी जानकारी देंगे तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पड़े ।

आज हम आप को बताएंगे कि कैप्टन हॉकिन्स कोन था ? , कहा के रहने वाले थे , कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था , कैप्टन हॉकिन्स किस सन् में भारत आया था और साथ – ही – साथ यह भी जानेंगे की कैप्टन हॉकिन्स जब भारत आय था तो वो किस जहाज को लेकर आया था , इस जहाज का नाम क्या था । अगर आप भी इन सब के बारे में जानना चाहते हो तो पूरे आर्टिकल को पड़े । तो चलिए करते है आज का आर्टिकल स्टार्ट –

कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ?

कैप्टन हॉकिन्स कोन था ? –

कैप्टन हॉकिन्स कोन था ? कैप्टन हॉकिन्स के बारे में अधिकांश लोग जानते होगे के वो इंग्लैंड के रहने वाले थे । पर क्या आप को पता है के कैप्टन हॉकिन्स किस शासक के दरबार में काम करता था । अगर आप नहीं जानते हो तो में आप को बता देता हूं , कैप्टन हॉकिन्स जेम्स प्रथम के दरबार में था । कैप्टन हॉकिन्स जेम्स प्रथम के खास दरबारियों में से एक था । इस लिए जेम्स प्रथम ने कैप्टन हॉकिन्स को आपना राजदूत बनाकर भारत भेजा था । और कैप्टन हॉकिन्स जिस उधेस के साथ भारत आया था उस ने वो पूर्ण करके जेम्स प्रथम को बताया।

कैप्टन हॉकिन्स के भारत आने का उद्देश्य –

कैप्टन हॉकिन्स जेम्स प्रथम के दरबार मे खास दरबारी के रूप में था ओर उसे ही भारत भेजा गया । कैप्टन हॉकिन्स के भारत आने का क्या उद्देश्य था ? कैप्टन हॉकिन्स के भारत में आने का उद्देश्य था कि उसे भारत में ईस्ट इंडिया कम्पनी का प्रचार प्रसार करना था । ओर ईस्ट इंडिया कंपनी के इस्थापना में आने वाली बधवो को दूर करना था। और इस कार्य को कैप्टन हॉकिन्स ने बेहतरीन तरीके से किया ।

Read Also : गैस सिलेंडर के नीचे कि ओर छेद क्यों होते है ? – gas cylinder ke niche ched kyu hota hai|

कैप्टन हॉकिन्स के भारत आने का प्रमुख उद्देश्य ईस्ट इंडिया कंपनी कि स्थापना में आने वाली बाधाओं को दूर करना था । तथा ईस्ट इंडिया कम्पनी का प्रचार प्रसार करना था । अंग्रेजी सरकार दुवारा कैप्टन हॉकिन्स को कड़े निर्देश थे कि वो भारत में पूरी तरह ईस्ट इंडिया कम्पनी का प्रचार – प्रसार करे ताकि भारत के हर राजा व जनता तक को ये पता चलना चाहिए कि अब भारत में अंग्रेजी शासन यानी ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना होने वाली है।

कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ? – captain hawkins kis mugal shasak ke darbar mein aaya tha

कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ? – captain hawkins kis mugal shasak ke darbar mein aaya thaयह सवाल भी कई बार पूछा जाता हैं । तो में आप को बता दू कैप्टन हॉकिन्स जहांगीर के शासन काल में भारत आया था । केप्टन हॉकिन्स सन् 1608 ई. में भारत आया था । उस समय भारत में जहागीर का शासन था। कैप्टन हॉकिन्स सन् 1608 ई. से 1613 ई. तक भारत में रहा था । उस ने भारत में ईस्ट इंडिया कम्पनी कि इस्थपना में बहुत महत्व – पूर्ण भूमिका निभाई ।

कैप्टन हॉकिन्स को जेम्स प्रथम के दरबार से कड़े निर्देश दिए गए थे कि वो भारत जाकर ईस्ट इंडिया कंपनी का बड़े पैमाने पर प्रचार प्रसार करे ओर ईस्ट इंडिया कंपनी कि इस्थापन में आने वाली बधावो को दूर करे व ईस्ट इंडिया कंपनी कि स्थापना का मार्ग सरल करे । और कैप्टन हॉकिन्स ने अपने कार्य को सफलता पूर्वक किया वो जब तक भारत में रहा उसने ईस्ट इंडिया कम्पनी का प्रचार प्रसार किया और ईस्ट इंडिया कंपनी कि स्थापना में महत्व पूर्ण भूमिका निभाई ।

कैप्टन हॉकिन्स किस जहाज को लेकर आया था ? –

अभी तक आप ने जाना की कैप्टन हॉकिन्स कोन है , वह भारत किस उद्देश्य से आया था तथा कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था ? लेकिन क्या आप को ये पता है कि कैप्टन हॉकिन्स भारत कैसे आया था । किस मार्ग से कैप्टन हॉकिन्स भारत आया था । कैप्टन हॉकिन्स समुंद्र के मार्ग से भारत आया था ल कैप्टन हॉकिन्स को समुंद्री मार्ग कि सहायता लेनी पड़ी थी , भारत आने के लिए ।

Read Also : स्वीट ड्रीम्स का रिप्लाई क्या होगा-Sweet Dreams Ka Reply Kya Hoga

अब एक ओर सवल यह भी उटता है कि कैप्टन हॉकिन्स ने किसकी सहायता से समुंद्र पार किया था । कैप्टन हॉकिन्स तो जेम्स प्रथम के दरबार में एक दरबारी थे तो उनका तो कोई जहाज नहीं हो सकता है । तो में आप को बता दू कैप्टन हॉकिन्स को भारत पौचने में जेम्स प्रथम के साथ – साथ अंग्रेजी सरकार का भी सहयोग था । इस लिए अंग्रेजी सरकार यानी ईस्ट इंडिया कंपनी कि और से कैप्टन हॉकिन्स को एक जहाज दिया गया था भारत आने के लिए । और इस जहाज का नाम हेक्टर था । यह जहाज बहुत बड़ा तथा इसमें कैप्टन हॉकिन्स के लिए एक सैना कि टुकड़ी था उन के उपयोग कि सारी वस्तुएं थी ।

निष्कर्ष –

आज के इस आर्टिकल में हमने बताया कि कैप्टन हॉकिन्स कोन था , कैप्टन हॉकिन्स के भारत आने का उद्देश्य , कैप्टन हॉकिन्स किस मुगल शासक के दरबार में आया था , साथ – ही – साथ यह भी जाना की कैप्टन हॉकिन्स किस तरह भारत पहुंचा इन सभी के बारे में विस्तार से बताया गया है ।

देखा जाए तो जेम्स प्रथम और ईस्ट इंडिया कंपनी के कैप्टन हॉकिन्स को अपने सुवार्थ के लिए ही भारत भेजा था । कैप्टन हॉकिन्स जहांगीर के शासन काल में एक राजदूत के रूप में आया था किन्तु उसने देखते – देखते भारत में ही अपनी कंपनी के लिए उसने स्थान बना लिया । यह एक बहुत बड़ी कमियाबी थी ईस्ट इंडिया कम्पनी के लिए । जिस उद्देश्य के साथ कैप्टन हॉकिन्स को भारत भेजा गया था उसने वो उद्देश्य पूरा किया जिसके कारण वो ईस्ट इंडिया कम्पनी का एक बड़ा ऑफिसर बना दिया गया ।

Read Also : गोपियों के अनुसार राजा का धर्म क्या होना चाहिए ? – gopiyon ke anusar raja ka dharm kya hona chahie –

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन अच्छी लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए… धन्यवाद् !!!


Leave a Reply

Your email address will not be published.