Irani Share Market Crash, निवेशकों में हाहाकार! 2024

Irani Share Market Crash, निवेशकों में हाहाकार! 2024 ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई है इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर रविवार को क्रैश हो गया था जिसमें उनके साथ सवार ईरान के विदेश मंत्री समेत और दूसरे लोगों की भी मौत हो गई इस हेलीकॉप्टर क्रैश के बाद बारिश के बीच बर्फीले मौसम में रेस्क्यू ऑपरेशन की भी तस्वीरें सामने आ गई हैं |

Kyu Hua Irani Share Market Crash

राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर क्रैश और उनकी मौत की खबर का असर ईरानी शेर बाजार पर भी दिखाई दिया है और तेहरान स्टॉक मार्केट का का प्रमुख इंडेक्स टेड पिक्स धराशाई हो गया है ईरानी राष्ट्रपति रईसी के हेलीकॉप्टर क्रैश की खबर के बाद पहले से गिरावट में कारोबार कर रहे तेहरान स्टॉक मार्केट ने अचानक से तगड़ा गोता लगा दिया |

irani share market crash

रविवार को इसका प्रमुख इंस टेड पिक्स 3.45 % या कहे 58,580 अंक की भारी गिरावट के साथ 21k के स्तर पर पहुंच गया , रन स्टॉक मार्केट जितना पूरे सप्ताह में नहीं टूटा उतना राष्ट्रपति की मौत की खबर के बाद टूटा

फैसला बता दें कि बीते एक सप्ताह में टेट पिक्स ने 2.52 % की गिरावट दर्ज की गई है और ईरानी शेयर बाजार में पहले से ही गिरावट का सिलसिला जारी था और अब इसमें ज्यादा उथल-पुथल देखने को मिल रही है पिछले एक महीने में मार्केट करीब 7 % तक टूटा है |

तह भी पढ़े : Small Cap Stocks में हो रही है Investors की खूब कमाई? | Share Market |

तेहरान टाइम्स के मुताबिक बीते शनिवार को भी बाजार ने बड़ी गिरावट देखी थी और टेट पिक्स 10.80 अंक फिसल गया था लेकिन इसके बाद जैसे ही राष्ट्रपति के प्लेन क्रैश की खबर सामने आई बा बाजार के बिखरने का सिलसिला तेज होता चला गया |

कैसे हे भारत और ईरान के रिश्ते

ईरान भारत का महत्त्वपूर्ण रणनीतिक व्यापारिक और ऊर्जा साझेदार है, और दिवंगत राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के रहते हुए इंडिया ईरान रिलेशन और भी मजबूत हुए हैं |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया इसी महीने 13 मई को चाबहार पोर्ट को लेकर दोनों देशों के बीच एक एग्रीमेंट भी साइन किया गया था |

इब्राहिम रईसी के कार्यकाल में ही चा भार समझौता आगे बढ़ा भारत ने 10 सालों के लिए ईरान का चा भार पोर्ट ऑपरेट करने के लिए 120 मिलियन डॉलर में तेहरान के साथ एग्रीमेंट किया है |

तह भी पढ़े : Zomato share price falls 6% after Q4 results. Opportunity to buy the stock?

भारत अपनी जरूरत का क्रूड ऑयल आयात करता है और ईरान से भी देश क्रूड ऑयल आयात करता है इसके अलावा भी भारत ईरान के कई तरह के दूसरे सामान खरीदता है |

इसमें सूखे मेवे केमिकल और कांच के बर्तन प्रमुख तौर पर शामिल है वहीं बात करें भारत से ईरान को निर्यात की जाने वाली चीजों की तो रिपोर्ट्स के मुताबिक ईरान बासमती चावल का बड़ा आयातक देश है इसके साथ ही भारत चाय कॉफी और चीनी भी ईरान को बेचता है फाइनेंशियल ईयर 2022-23 में भारत और ईरान के बीच 2.33 अरब डॉलर का कारोबार हुआ था |

तह भी पढ़े : Share Bazar में Defence Stocks की दहाड़ तेज़, क्या करें निवेशक?|2024

Leave a Comment