किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं Kis Desh Mein Keechad Se Holee Kheli Jati Hain –

हैलो दोस्तो कैसे है आप सब लोग , में आशा करता हूं कि आप सभी लोग कुशल होंगे । दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हम आप को बताएंगे कि किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं – Kis Desh Mein Keechad Se Holee Kheli Jati Hain । अगर दोस्तो आप भी यह जानना चाहते हैं कि आखिर किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पड़े ।

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हम आप को बताएंगे कि किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं । इसके अलावा आज के इस आर्टिकल में हम आप को बताएंगे की कीस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं – Kis Desh Mein Keechad Se Holee Kheli Jati Hain , उस देश के बारे में कुछ सामान्य जानकारी भी देंगे और साथ – ही – साथ यह भी बताएंगे कि होली क्यों मनाते है ? अगर दोस्तो आप भी इन सब विषयों के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पड़े । तो चलिए करते हैं आज के इस आर्टिकल को स्टार्ट –

होली क्यों मनाते है –

दोस्तों हम हर साल होली बड़े धूमधाम से मनाते हैं , लेकिन क्या आपको पता है की यह होली क्यों मनाते है ? आखिर होली मनाने के पीछे क्या राज है | अगर आप भी जानना चाहते हैं की हमारे भारत में होली क्यों मनाई जाते हैं , और इसके पीछे क्या रहस्यमई गाथा हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े |

दोस्तों ऐसा माना जाता है कि प्राचीन काल में राक्षस राज हिरण्यकश्यप ने तपस्या करके भगवान विष्णु से यह वरदान पाया की उसे कोई ना मार सके उसे कोई आदमी या औरत ना मार सके , उसे ना तो घर में मारा जा सके ना बाहर मारा जा सके , उससे ना दिन में मारा जा सके ना रात में मारा जा सके , ऐसा वरदान पाने के बाद वह लोगों पर जुल्म करने लगा अत्याचार करने लगा |

लेकिन उसका पुत्र जिसका नाम पहला था , और वह भगवान विष्णु का भक्त था लेकिन हिरण्यकश्यप का मानना था कि पहलाद सिर्फ उसको माने और किसी को ना माने इसके लिए लेकिन पहलाद को यह मंजूर नहीं था | वह दिन भर भगवान विष्णु की ही पूजा पाठ करता लेकिन यह हिरण्यकश्यप को बिल्कुल भी मंजूर नहीं था और वह पहलाद को मारना चाहता था इसके लिए उसने कई प्रयास किए लेकिन भगवान विष्णु की कृपा से पहलाद हमेशा उससे बच जाता था |

हिरण्यकश्यप के एक बहन भी थी जिसका नाम ” होलीका ” था | उसको भगवान विष्णु से वरदान मिला हुआ था कि वह आग से जल नहीं सकती | इसी का फायदा उठाकर हिरण्यकश्यप ने अपने पुत्र पहलाद को होलिका की गोद में बिठाकर आग लगा दी , ताकि पहला जल जाए और होलिका को कुछ ना हो लेकिन भगवान विष्णु की कृपा और शक्ति से होलिका जल गई और पहलाद बच गया तब से होली का दहन और होली मनाई जाती है |

किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं – Kis Desh Mein Keechad Se Holee Kheli Jati Hain

दोस्तो आप ने कभी ना कभी तो होली जरुर मनाई होगी । आप ने होली गुलाल से या पानी से मनाई होगी । लेकिन क्या आप को एक ऐसे देस के बारे में पता हैं जहा पर कीचड से होली खेली जाती हैं । अगर आप भी यह जानना चाहते हैं कि आखिर किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पड़े ।

दोस्तो गर्मी के दिनो मे दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोर में कीचड़ से होली खेली जाती हैं , और यह इस होली को मट फेस्टिवल के नाम से जाना जाता हैं । इस फेस्टिवल के लिए कई दिनों पहले से ही तायरिया सुरु हो जाती हैं । इस फेस्टिवल के लिए कीचड़ बनाया जाता हैं , कीचड़ के पुल बनाए जाते हैं । और दोस्तो इस कीचड़ से किसी को भी किसी भी तरह कि कोई हानि नहीं होती हैं , क्युकी इस कीचड़ में केमिकल मिलाए जाते हैं , जिससे कि कोई हानि न हो ।

दोस्तो वैसे तो मठ फेस्टिवल दक्षिण कोरिया के लोगो के लिए बहुत ही खास हैं , लेकिन इस फेस्टिवल की एक और खास बात यह है कि इस फेस्टिवल के दौरान प्रेमी एक – दूसरे से अपने दिल की बात कहते हैं । यानी की इस फेस्टिवल के दौरान प्रेमी अपने प्यार का हिजहर करते हैं ।

निष्कर्ष –

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हमने आप को होली के बारे में बताया हैं । दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हमने आप को बताया हैं कि भारत में होली क्यों मनाते है । इसके अलावा दोस्तो आज के इस आर्टिकल में हमने आप को यह भी बताया हैं कि किस देश में कीचड़ से होली खेली जाती हैं , और इस कीचड़ की होली को किस नाम से जाना जाता हैं ।

दोस्तो वैसे तो होली भारत का त्योहार है लेकिन कई सारे देशों में इसे अलग – अलग समय पर अलग – अलग तरीकों से मनाया जाता हैं । सभी देशों के अपने – अपने अंदाज होते हैं होली मनाने के , और कई सारे देशों मे होली के अलग – अलग नाम दे रखे हैं । कुछ इसी तरह दक्षिण कोरिया में भी होली खेली जाती हैं , लेकिन इस को वहा मठ फेस्टिवल के नाम से जाना जाता हैं । और इस मठ फेस्टिवल की एक और खास बात यह हैं की इस फेस्टिवल में गुलाल की जगह कीचड़ का प्रयोग किया जाता हैं ।

तो दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन अच्छी लगी है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर करे और इस आर्टिकल को लाइक करे अछि रेटिंग दे तथा निचे कमेंट बॉक्स में क्यूमेंट करे और बताये आपको ये इनफार्मेशन कैसी लगी,तो मिलते अगले ऐसे हे महत्वपुर्ण informative आर्टिकल के साथ तब तक के लिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.