Share Market में Bright Com Group स्टॉक ने निवेशकों को कर दिया कंगाल

Share Market  में निवेशकों को पेनी स्टॉक से दूर रहने की सलाह दी जाती है ऐसा ही एक पेनी स्टॉक है Bright Com Group का इस शेयर ने निवेशकों को पहले तो मोटा रिटर्न दिया फिर यह शेयर ऐसा टूटा कि निवेशक कंगाल हो गए |

अब इस शेयर में धांधली की खबरें काफी पहले से आ रही थी अब नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने इस कंपनी पर बड़ा एक्शन लिया है पूरा मामला समझाते हैं आपको इस आर्टिकल में नमस्कार…!

Share Market में Bright Com Group स्टॉक ने निवेशकों को कर दिया कंगाल

एनएससी बीएससी ने Bright Com Group के शेयर में ट्रेडिंग पर रोक लगा दी है यानी अब Bright Com Group के शेयर निवेशक ना तो खरीद पाएंगे ना ही बेच पाएंगे जब तक कंपनी एक्सचेंज के नियमों का पालन नहीं करता बैन जारी रहेगा निलंबन के 15 दिन बाद 6 महीने के लिए हर हफ्ते के पहले कारोबारी दिन ट्रेडिंग की अनुमति होगी यह ट्रेडिंग भी ट्रेड फॉर ट्रेड आधार पर होगी |

यह भी पढ़े : SUZLON Energy को मिला बूस्टर, रॉकेट हुआ एनर्जी कंपनी का share

यानी आपको शेयर की डिलीवरी लेनी होगी इसके अलावा एनएससी ने इस शेयर को जड कैटेगरी में डाल दिया है जड कैटेगरी के शेयर वह होते हैं जिन्हें निवेशक और मार्केट एक्सपर्ट सबसे कम भरोसेमंद मानते हैं |

इन कंपनियों की मैनेजमेंट का नजरिया साफ नहीं होता है बैन के दौरान प्रमोटरों की पूरी शेयर होल्डिंग और डी मैट अकाउंट में पड़े शेयर भी जब्त रहेंगे एनएससी ने अपने सर्कुलर में कहा कि Bright Com Group ने सेबी के रेगुलेशन 33 का पालन नहीं किया गया |

क्या हे सेबी के रेगुलेशन 33 ?

रेगुलेशन 33 के तहत सभी लिस्टेड कंपनियों को अपने तिमाही नतीजे जारी करने होते हैं ब्राइट कॉम ग्रुप ने लगातार दो तिमाही से नतीजे घोषित नहीं किए हैं इसी कारण ब्राइट कॉम ग्रुप के शेरों की ट्रेडिंग पर रोक लगाई गई है |

यह भी पढ़े : Gold भूल जाओ, अब Silver बनाएगा आपको करोड़पति! | Gold Price | Silver Price | 2024

इससे पहले भी सेबी ने इस कंपनी पर बड़ा एक्शन लिया था फरवरी में सेबी को कंपनी के प्रेफरेंशियल शेयर अलॉटमेंट में धांधली मिली थी इस मामले में सभी ने कंपनी के प्रमोटर को शेयर ट्रेडिंग करने से रोक दिया था |

कौन है ब्राइट कॉम ग्रुप कंपनी के प्रमोटर ?

यह बैन अब तक जारी है इसके अलावा कंपनी के प्रमोटर सुरेश कुमार रेड्डी कंपनी के बोर्ड और मैनेजरियल पद भी नहीं ले सकते पिछले साल सेबी की सख्ती के बाद एमडी सुरेश रेड्डी और सीएफओ को पद से हटा दिया था |

यानी Bright Com Group काफी पहले से सेबी के रडार पर है कंपनी के प्रमोटर पर फ्रॉड और वित्तीय अनमता हों के गंभीर आरोप हैं इस शेयर में सबसे ज्यादा रिटेल निवेशक फंस गए हैं मोटे रिटर्न के लालच में यह निवेशक फंसे हैं |

Bright Com Group के पिछले सालों के आंकड़े

Bright Com Group में 71% हिस्सेदारी पब्लिक के पास है इसमें से 5.7 लाख रिटेल निवेशकों की 37.89% हिस्सेदारी है वही प्रमोटर ग्रुप की 18.3 फी हिस्सेदारी है एल गॉफ ग्लोबल अपॉर्चुनिटी फंड की 2.48 फ दिग्गज निवेशक शंकर शर्मा की 1.14 फ और सुब्रतो साहा की 2.02 फ हिस्सेदारी है |

यह भी पढ़े : Small Cap Stocks में हो रही है Investors की खूब कमाई? | Share Market |

यानी इस शेयर में सबसे बड़ा झटका रिटेलर्स को लगा है इस शेयर पर दाव लगाने वाले रिटेल निवेशक कंगाल हो गए हैं और जुलाई 2021 से अप्रैल 2022 तक इस शेयर में एक तरफा ऊपर की चाल दिखी लेकिन इसके बाद से ही इस शेयर में तेज गिरावट देखी जा रही है |

साल 2021 के तहत सात महीनों में शेयर का भाव 4₹ से 117 पर पहुंच गया था जून 2021 में भाव 4₹ था जो दिसंबर 2021 में 117 पर आ गया यानी महज सात मही महीने में 2800 फी का रिटर्न दे दिया 1 अप्रैल 2022 से शेयर में ऐसे गिरावट आई थी आज शेयर का दाम 12 पर आ गया है |

यानी रिटर्न के कच्चे लालच ने जिन निवेशकों के इस शेयर में 2022 में एंट्री ली वो आज कंगाल हो गए हैं और यही वजह है कि पेनी स्टॉक से निवेशकों को दूर करने की सलाह दी जाती है |

क्योंकि ऐसे शेरों में निवेशक रिटर्न के लालच में या सस्ता समझकर खरीद लेते हैं और बाद में अपनी जिंदगी की गाढ़ी कमाई गवा बैठते हैं |

Leave a Comment